What is VPN in Hindi, vpn kya hai, vpn ke fayde..

दोस्तों आज इस पोस्ट में बात करेंगे की What is VPN in Hindi, Vpn काम क्या करता है और vpn के फायदे क्या-क्या हैं और vpn के नुकसान क्या क्या है, vpn ke nuksan, vpn se net kaise chalaye, vpn kya hai hindi me, types of vpn in hindi, vpn ke fayde etc..।

What is VPN in Hindi

vpn का फुल फॉर्म होता है virtual private network. VPN एक ऐसी तकनीक है जो हमारे कनेक्शन को सुरक्षित बनाने का काम करती है।

दोस्तो इंटरनेट पर ढेर सारी वेबसाइट है जो कि अलग अलग कंट्री के डाटा सेंटर मैं सेव रहती हैं, फिर चाहे डाटा सेंटर फ्रांस का हो जर्मनी का हो या फिर चाइना का और जब भी हम इन वेबसाइट पर जाते हैं, तो हमें उसी पर्टिकुलर डाटा सेंटर से उस वेबसाइट को Pull करना होता है, मतलब कि जब भी हम किसी वेबसाइट को विजिट करते हैं तो हमारे राउटर से रिक्वेस्ट जाती है, उस सर्वर पर जहां पर वह वेबसाइट स्टोर की गई है और उसके बाद उस सर्वर से जवाब आता है तब जाकर आप वो वेबसाइट देख पाते हैं।

इस स्थिति में आपका इंटरनेट service प्रोवाइडर आपकी गतिविधियों पर नजर रख सकता है, क्योंकि उसको आपका IP एड्रेस पता है, और उसको यह भी पता है, कि आप किन किन वेबसाइट के लिए रिक्वेस्ट भेज रहे हैं, और इस स्थिति में हमारी सरकार भी हम पर नजर रख सकती है, इसलिए vpn का यूज करना काफी सुरक्षित माना जाता है।


Vpn काम क्या करता है

vpn कंप्यूटर या मोबाइल के आईपी एड्रेस को दूसरे कंट्री के आईपी एड्रेस में बदल देता है, जिसकी मदद से आप अपनी कंट्री में जो कंटेंट ब्लॉक है उसको भी आसानी से एक्सेस कर सकते हैं।


vpn के फायदे क्या-क्या हैं

दोस्तों आपने देखा होगा कि बहुत सारा कंटेंट ऐसा होता है, जो कि Restricted होता है किसी भी विशेष कंट्री या फिर किसी रीजन के लिए ऐसे में आप वीपीएन का यूज करके उसको देख सकते हैं, उदाहरण के लिए कोई यूट्यूब का वीडियो ले लीजिए जो कि सिर्फ मान लो कि usa के लिए ही अवेलेबल करवाया गया है, लेकिन यदि आप उसको इंडिया से देखने की कोशिश करेंगे तो आप उसको नहीं देख पाएंगे ऐसे में vpn का यूज करके आप उसको देख सकते हैं,

  या फिर कोई वेबसाइट ले लीजिए जो किसी एक ही कंट्री के लिए अवेलेबल करवाई गई है, और यदि आप उसको दूसरी कंट्री से एक्सेस करने की कोशिश करेंगे तो आप उसको एक्सेस नहीं कर पाएंगे ऐसे में भी आप VPN का यूज करके उसको एक्सेस कर सकते हैं,

  एक और उदाहरण यदि आप चाइना जाते हैं और वहां पर आप फेसबुक चलाने की कोशिश करेंगे तो आप नहीं चला पाएंगे क्योंकि चाइना में फेसबुक पर रोक लगी है तब आप vpn का यूज करके फेसबुक चला सकते हैं।

» तो डार्क वेब ऐसा होता है

»फ़ोन बैटरी जल्दी ख़त्म इन गलतियों की वजह से होती है


vpn के नुकसान
यदि आप सोच रहे हो कि आप vpn का यूज करके कोई इल्लीगल काम कर सकते हो तो यह ठीक नहीं है ऐसे मैं आपकी प्राइवेसी छीन सकती है, क्योंकि जिस भी कंट्री का वीपीएन सर्वर आप यूज कर रहे हो उस कंट्री की गवर्नमेंट यदि उनसे डाटा मांगती है, तो वह आसानी से देते हैं और ऐसे में आपके पकड़े जाने के चांसेस बढ़ जाते हैं।
जब भी हम बीपीएन का यूज़ करते हैं वेबसाइट को देखने के लिए सबसे पहले वह रिक्वेस्ट उस कंट्री तक जाती है फिर उसके बाद उस वेबसाइट तक जाती है फिर उसके बाद उसका जो भी रिप्लाई होता है वह पहले उस सरवर तक आता है उसके बाद आप तक पहुंचता है ऐसे में वेबसाइट के खुलने की स्पीड कम हो जाती है।


यदि आपको यह पोस्ट (vpn के फायदे क्या-क्या हैं, What is VPN in Hindi) पसंद आई है, तो कृपया इसको सोशल मीडिया जैसे कि फेसबुक, टि्वटर पर शेयर करना ना भूले और यदि इस पोस्ट से संबंधित कोई सुधार या कोई सवाल हो तो कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!